जवाहर आदिम जाति उत्कर्ष विद्यार्थी योजना

छत्तीसगढ़ शासन

जवाहर आदिम जाति उत्कर्ष विद्यार्थी योजना


छत्तीसगढ़ के अनुसूचित जनजाति वर्ग के मूल निवासी प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को श्रेष्ठ आवासीय शिक्षण संस्थाओं में प्रवेश दिलाकर उन्हें शिक्षा के बेहतर अवसर उपलब्ध कराने और प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए यह महत्वपूर्ण योजना संचालित की जा रही है.

योजना के अंतर्गत अध्ययन के लिए उत्कृष्ट विद्यालय और विद्यार्थियों का चयन आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग के आयुक्त की अध्यक्षता में गठित छह सदस्यीय चयन समिति द्वारा किया जाएगा।

यूजर लॉगिन


Dashboard

छत्तीसगढ़ के अनुसूचित जनजाति वर्ग के मूल निवासी प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को श्रेष्ठ आवासीय शिक्षण संस्थाओं में प्रवेश दिलाकर उन्हें शिक्षा के बेहतर अवसर उपलब्ध कराने और प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए यह महत्वपूर्ण योजना संचालित की जा रही है.

आदिम जाति तथा अनुसूचित जनजाति विभाग के अधिकारियों ने आज बताया कि संशोधित नियम के बाद नवमीं कक्षा में योजना के तहत अब सीधे प्रवेश नहीं दिए जाएंगे.

उन्होंने पात्रता, मापदण्ड आदि के बारे में बताया कि मेधावी विद्यार्थी का पांचवी में न्यूनतम अंक 85 प्रतिशत तथा दसवीं कक्षा में 80 प्रतिशत होना चाहिए.